किसी भी COACHING INSTITUTE में एडमिशन लेने से पहले इन बातो का रखे विशेष ध्यान

HOW TO CHOOSE  BEST COACHING INSTITUTE FOR COMPETITIVE  EXAM / IMPORTANT TIPS FOR CHOOSE TOP  COACHING CLASSES IN INDIA /   कैसे करे अच्छे COACHING INSTITUTE  में  एडमिशन  लेने  का फैसला/ 

Web results

अगर आप एक स्टूडेंट है और किसी  COMPETITIVE EXAM की प्रिपरेशन के लिए किसी BEST COACHING INSTITUTE में एडमिशन लेने की योजना बना रहे हैं तो आपको उस कोचिंग में एडमिशन लेने से पहले कुछ बातों का विशेष ध्यान रखना चाहिए!
 इस लेख में मैं बहुत ही आसान भाषा में उन महत्वपूर्ण बिंदुओं पर चर्चा करूंगा जो आपको एक  BEST COACHING के चयन करने (SELECT/CHOOSE BEST COACHING INSTITUTE FOR COMPETITIVE  EXAM )  में बहुत मददगार साबित होंगे।

HOW TO SELECT BEST COACHING INSTITUTE FOR COMPETITIVE  EXAM

Search Results

Web results

  • HOW TO CHOOSE  BEST COACHING INSTITUTE FOR EXAM PREPARATION 

  • HOW TO CHOOSE  BEST COACHING CENTER IN INDIA  FOR EXAM PREPARATION 

दोस्तों आप में से अधिकांश विद्यार्थियों का किसी भी कोचिंग संस्थान में प्रवेश लेने का जो निर्णय होता है वह मुख्य रूप से उस कोचिंग संस्थान द्वारा दिखाएं गया एडवर्टाइजमेंट या विज्ञापन होता है जिसमें वह कोचिंग संस्थान विगत वर्षों के परीक्षा परिणाम उनके द्वारा चयनित करवाए गए विद्यार्थियों के फोटो तथा प्रदेश स्तर एवं राष्ट्रीय स्तर पर मेरिट में चयनित हुए विद्यार्थियों के फोटो का प्रकाशन करते हैं और आप इसी विज्ञापन को देखकर के  उस कोचिंग में प्रवेश लेने का निर्णय कर लेते हैं !!  लेकिन यहां पर आपको बहुत समझदारी से काम लेने की जरूरत है। क्योंकि जिन विद्यार्थियों की सफलता का श्रेय वह कोचिंग संस्थान विज्ञापन के माध्यम से लेते हैं उसमें पूरी सच्चाई नहीं होती है जैसे कि आपने यह चीज तो जरूर देखी होगी कि जब कोई विद्यार्थी प्रदेश स्तर या देश स्तर पर किसी परीक्षा में मेरिट लिस्ट में चयन होता है तो उस विद्यार्थी की सफलता का श्रेय अनेक कोचिंग संस्थान विज्ञापन के माध्यम से लेने का प्रयास करते हैं लगभग सभी बड़े कोचिंग संस्थान उस विद्यार्थी को अपनी कोचिंग के एडवर्टाइजमेंट में दिखाते हैं और यह बताते हैं कि उस विद्यार्थी की सफलता उस कोचिंग संस्थान में पढ़ने के बाद ही मिली है। उस चयनित विद्यार्थी की फोटो करीब यह 10 से 15 कोचिंग संस्थानों के विज्ञापन में दिखता है इतना तो आप समझ ही गए होंगे कि वह विद्यार्थी एक साथ इन सभी कोचिंग्स में तो पढ़ा नहीं होगा मतलब कि यहां पर कुछ कोचिंग संस्थान सरासर झूठा प्रचार कर रहे हैं। और जब हम इसके बारे में उनसे पूछते हैं कि यह विद्यार्थी तो दूसरी कोचिंग में पढ़ता था तो वहां अनेक टर्म्स एंड कंडीशंस के साथ हमें जवाब देते हैं उनका जवाब कुछ इस प्रकार से होगा कि वह विद्यार्थी हमारी टेस्ट सीरीज का स्टूडेंट रहा है या वह हमारे डिस्टेंस लर्निंग प्रोग्राम का स्टूडेंट रहा है या वह हमारे स्पेशल बैच का स्टूडेंट रहा है यह वह हमारे इससे पुरानी बैच या कुछ सालों पहले का विद्यार्थी रहा है मतलब की उनकी जितनी टर्म्स एंड कंडीशंस है उसका सीधा मतलब यह निकलता है कि वह झूठा प्रचार कर रहे हैं और एक षड्यंत्र का सहारा लेकर के उस विद्यार्थी की सफलता का गलत श्रेय लेने का प्रयास करते हैं।वह कभी भी स्पष्ट भाषा में इन टर्म्स एंड कंडीशन को कभी भी स्टूडेंट के सामने नहीं दिखाते हैं।

HOW TO CHOOSE  BEST COACHING CENTER IN INDIA  FOR EXAM PREPARATION 



HOW TO SELECT BEST COACHING INSTITUTE FOR COMPETITIVE  EXAM

इसके साथ साथ आपको विज्ञापन से संबंधित एक बात का और बहुत विशेष तरीके से ध्यान रखना चाहिए वह यह है कि विज्ञापन में दिखाए गए टोटल सिलेक्शन की संख्या को लेकर ।।दोस्तों आपको कभी भी टोटल सिलेक्शन या नंबर ऑफ सिलेक्शन किस कोचिंग संस्थान की ज्यादा है इसको भी एडमिशन लेने का पूरा आधार नहीं बनाना चाहिए आपको यहां पर उस कोचिंग का सक्सेस रेशों ध्यान में रखकर के निर्णय लेना चाहिए ना की टोटल सिलेक्शन,,, चलिए मैं थोड़ा आसान भाषा में समझाता हूं मान के चलो कि किसी कोचिंग संस्थान में  कुल मिलाकर 1000 विद्यार्थी पढ़ते हैं और उनमें से किसी भी परीक्षा में 25 विद्यार्थियों का चयन होता है तो इस प्रकार से उस कोचिंग का सक्सेस रेशों या रिजल्ट 2.5% रहा है और वहीं दूसरी ओर किसी कोचिंग में 500 विद्यार्थी पढ़ते हैं और 20 विद्यार्थियों का चयन होता है तो यहां पर उस कोचिंग का सक्सेस रेशों 4%रहा। अतः आप जब भी किसी कोचिंग में एडमिशन लेने का सोचे तो टोटल नंबर ऑफ सिलेक्शन की बजाय सिलेक्शन परसेंटेज को प्राथमिकता दें।
इसको ठीक वैसे ही समझने का प्रयास करिए जिस प्रकार से हम T-20 क्रिकेट मैच में खिलाड़ी के परफॉर्मेंस को देखते हैं वहां पर हम यह देखते हैं की 20 ओवर के मैच में अगर कोई खिलाड़ी 8 ओवर खेलकर 40 रन बनाता है, वही दूसरा खिलाड़ी 3 ओवर खेल के 30 रन बना देता है तो हम वहां पर रन रेट के आधार पर खिलाड़ी का आकलन करते हैं उसी प्रकार कोचिंग क्लास के चयन में सक्सेस रेशों अर्थात रिजल्ट परसेंटेज को आधार बनाना चाहिए। जब आप सक्सेस रेशों यह रिजल्ट परसेंटेज को आधार बनाएंगे तो आपको उस कोचिंग की हकीकत पता चलेगी की उस कोचिंग में कितनी ज्यादा मात्रा में विद्यार्थी असफल हो रहे जो कि आपको कभी भी विज्ञापन में नहीं दिखाया जाएगा।

HOW TO SELECT BEST COACHING INSTITUTE FOR COMPETITIVE  EXAM

HOW TO SELECT BEST COACHING INSTITUTE FOR COMPETITIVE  EXAM

अब आपके मन में यह प्रश्न आ रहा होगा कि जब एडवर्टाइजमेंट को देखकर के एडमिशन नहीं लेना है तो फिर क्या करें किस आधार पर हम एक अच्छी कोचिंग का चयन करें तो मैं आपको यहां पर कुछ टिप्स दे रहा हूं ।

जब आप यह तय कर ले कि  आपको किस शहर में जाकर के और किस कोचिंग में प्रवेश लेना है तो आप सबसे पहले उस शहर में जाइए और जिस एरिया में कोचिंग संस्थान है उसके आसपास के एरिया में अपना रूम या हॉस्टल ले लीजिए फिर उसके बाद कोचिंग में एडमिशन लेने की योजना बनाई है आप एडमिशन लेने से पहले एक हफ्ता तक उस एरिया में रुक कर के विभिन्न कोचिंग संस्थान के बारे में जानकारी ले सकते हैं ।बहुत सारे विद्यार्थी यहां पर जल्दबाजी करते हैं वह अपने शहर या गांव से सबसे पहले उस कोचिंग संस्थान पर पहुंचते हैं वहां पर एडमिशन लेते हैं उसके बाद अपना रूम तलाशते और जब थोड़े समय पश्चात यह पता चलता है कि उन्होंने किसी गलत कोचिंग में एडमिशन ले लिया है तो फिर वह अपने आप को ठगा हुआ महसूस करते हैं ।आप ऐसी गलती ना करें आप पहले रूम या हॉस्टल  ले  फिर  5 दिन आप आराम से साड़ी कोचिंग्स के बारे में जानकारी प्राप्त करें उनके रिसेप्शंस पर जा करके पता करें और फिर अच्छी तरीके से सोच विचार करने के बाद ही एडमिशन लेने का निर्णय करें।
HOW TO SELECT BEST COACHING INSTITUTE FOR COMPETITIVE  EXAM


आप जिस भी कोचिंग में प्रवेश लेने की योजना बना रहे हैं तो सबसे पहले उस कोचिंग में पढ़ने वाले पुराने विद्यार्थियों से संपर्क करें और उनसे उस कोचिंग के बारे में जानकारी प्राप्त करें वह आपको उस कोचिंग की अंदरूनी व्यवस्था के बारे में बिल्कुल सही जानकारी उपलब्ध करवाएंगे वह आपको बताएंगे कि टेस्ट किस प्रकार से होते हैं कौन सी फैकल्टी अच्छी पढ़ाती है कौन सी फैकल्टी छोड़कर जा चुकी है किस प्रकार की व्यवस्थाओं में बदला हुआ है क्या अच्छी बात है क्या बुरी बात है आदि। लेकिन यहां पर भी एक सावधानी आप को रखना है वह यह है कि आप जिससे भी यह जानकारी प्राप्त कर रहे हैं वह व्यक्ति आपका विश्वसनीय होना चाहिए वरना ऐसी प्रवृत्ति भी देखने को मिली है जिसमें कुछ कोचिंग के विद्यार्थी उस कोचिंग के कमीशन एजेंट के रूप में कार्य करते हैं क्योंकि कुछ कोचिंग संस्थान अपने ही विद्यार्थियों को यह प्रलोभन देती है कि अगर वह अपने रिश्तेदारों या अपनी जान पहचान के किसी व्यक्ति का इस कोचिंग में एडमिशन करवाएंगे तो उन्हें कुछ आर्थिक लाभ मिलेगा हालांकि यह प्रवृत्ति कोचिंग इंस्टिट्यूट में अभी कम है कुछ ही कोचिंग संस्थान ऐसा करते हैं लेकिन इंजीनियरिंग कॉलेज के एडमिशन के मामले में यह प्रवृत्ति बहुत ज्यादा मात्रा में बढ़ चुकी है तो आपको बहुत सावधान रहने की जरूरत है।
और इसी आर्थिक लाभ के लालच में आकर के वह विद्यार्थी किसी को गलत जानकारी देने लगता है तो आपको एक विश्वसनीय व्यक्ति से जानकारी लेना है ना कि हर किसी व्यक्ति से।

HOW TO CHOOSE  BEST COACHING CENTER IN INDIA  FOR EXAM PREPARATION 



HOW TO SELECT BEST COACHING INSTITUTE FOR COMPETITIVE  EXAM

दोस्तों मैं अब आपके साथ एक बहुत ही महत्वपूर्ण बात को शेयर करने जा रहा हूं,,,,जब मैं इस आर्टिकल को लिखने के लिए कंटेंट का रिसर्च कर रहा था तो मैंने कुछ अलग अलग कोचिंग में पढ़ने वाले स्टूडेंट से जिस में मुख्य रुप से कोटा दिल्ली इलाहाबाद पुणे आदि शहरों में पढ़ने वाले अनेक विद्यार्थियों से संपर्क किया ताकि मुझे अच्छे से जानकारी मिले और उसके बाद में इस आर्टिकल में अच्छा कंटेंट या अच्छी जानकारी लिख  सकू,
 मुझे वहां पर एक  ऐसी जानकारी मिली जिसे मुझे जानने के बाद बहुत ज्यादा आश्चर्य हुआ वह मैं आपके साथ शेयर कर रहा हूं, ताकि आप भी  इस चीज से सावधान हो जाए ,जब मैं उनसे बात कर रहा था तो उन्होंने मुझे बताया की कुछ बड़े कोचिंग संस्थान भी विद्यार्थियों के साथ भेदभाव करते हैं मैंने उनसे पूछा कि कैसा भेदभाव ?तो उन्होंने मुझे बताया कि कुछ बड़े कोचिंग संस्थानों में एक ही एग्जाम्स के लिए बहुत सारे बैचेस  चलते हैं और उनमें  वीकली मंथली या फिर समय-समय पर टेस्ट होते हैं और इन टेस्ट में जो विद्यार्थी लगातार अच्छा प्रदर्शन करते हैं उन विद्यार्थियों को एग्जाम से 3 या 4 महीने पहले उनके पुराने बैचेस में से निकाल के एक स्पेशल बैच बना देते हैं और फिर उस स्पेशल बैच को विशेष सुविधाएं उनके डाउट क्लियर को ले करके अच्छी फैकल्टी उनके लिए अच्छी क्वालिटी के नोट्स और अनेक प्रकार की विशेष सुविधाएं उनको देते हैं जो कि बाकी विद्यार्थियों को नहीं मिल पाती है ।मैंने उनसे बहुत आश्चर्य से पूछा कि जब सारे विद्यार्थी बराबर फीस देते हैं तो फिर कोचिंग संस्थान भेदभाव क्यों करते हैं ??तो उन्होंने मुझे हंसते हुए जवाब दिया .... सर यह स्पेशल बैच के बच्चे उनके लिए सोने के अंडे देने वाली मुर्गी है और बाकी बच्चे भीड़ है जो विज्ञापन देखकर के दौड़े चले आते हैं और उनका कभी सिलेक्शन नहीं होता है सिलेक्शंस तो इस स्पेशल बेच का होता है जिसके विद्यार्थी पहले से ही टैलेंटेड होते हैं। यह बात सुनकर  मुझे बहुत धक्का पहुंचा और शायद अब आप भी वैसा ही महसूस कर रहे होंगे।

HOW TO SELECT BEST COACHING INSTITUTE  IN INDIA FOR COMPETITIVE  EXAM



HOW TO SELECT BEST COACHING INSTITUTE FOR COMPETITIVE  EXAM

चलिए मैं अब आगे कुछ और महत्वपूर्ण बातें आपको बताता हूं वह यह है आपको एडमिशन लेने से पूर्व उस कोचिंग संस्थान में कुछ समय के लिए डेमो क्लासेस जरूर लेना चाहिए हालांकि यह बड़े कोचिंग संस्थान में संभव नहीं हो पाता है क्योंकि वहां पहले फीस जमा करवाते हैं उसके बाद ही एडमिशन देते हैं या फिर आप भी डेमो क्लास का बोलने में हिचकिचाहट करते  हैं क्योंकि जब आप उनके आलीशान कॉरपोरेट ऑफिस में बैठे होते हैं और सामने रिसेप्शन पर फर्राटे दार अंग्रेजी बोलने वाली मैडम बैठी होती है तो आप डेमो क्लास के बारे में चर्चा करने से हिचकीचाहते हैं ,लेकिन दोस्तों जब बात आपके भविष्य को लेकर के होती है और आपके परिवार के द्वारा बहुत मेहनत करके कमाए गए पैसे की होती है जिसे आप उस कोचिंग में जमा करने वाले हैं तो आपको हिचकिचाना बिल्कुल नहीं चाहिए यह कॉरपोरेट ऑफिस और फर्राटेदार अंग्रेजी बोलने वाली मैडम किसी काम की नहीं है अगर आपका सिलेक्शन नहीं होता है तो ।
आपको डेमो क्लास का विकल्प अवश्य चुनना चाहिए अगर संभव ना हो तो फिर क्या करना चाहिए वह मैं इस लेख में आगे बताऊंगा।

HOW TO SELECT BEST COACHING INSTITUTE  IN INDIA FOR COMPETITIVE  EXAM



HOW TO SELECT BEST COACHING INSTITUTE FOR COMPETITIVE  EXAM

अगर आप किसी कोचिंग संस्थान में प्रवेश ले चुके हैं और आपने पूरी फीस भी जमा कर दी है लेकिन कुछ ऐसी स्थिति उत्पन्न होती है जिसके चलते आप उसको चीन में पढ़ाई करना उचित नहीं समझते हैं वह  स्थिति कोचिंग संस्थान की पढ़ाई समझ में ना आना कोचिंग संस्थान में सुविधाएं उपलब्ध ना होना या आप किसी दूसरी कोचिंग संस्थान में प्रवेश लेने की योजना बनाने लगते हैं या किसी अन्य कारण से जब आप यह तय कर लेते हैं कि आपको अपनी वर्तमान कोचिंग को छोड़ना है तो भी आपके पूरे अधिकार होते हैं यहां पर बहुत ध्यान से यह बात समझने की जरूरत है क्योंकि बहुत सारे विद्यार्थी उस कोचिंग में पैसे जमा करने के बाद वहां की पढ़ाई समझ में ना आते हुए भी मजबूरी में वही पढ़ने के लिए बाध्य होते हैं और जब पढ़ाई समझ में नहीं आएगी तो स्वभाविक है एग्जाम में रिजल्ट भी नेगेटिव ही रहेगा लेकिन वह वहां पर फीस दे करके फस जाते और जब फीस वापस मांगते हैं तो कोचिंग संस्थान अपनी नियम एवं शर्ते बताते हैं जहां पर वह पहले ही एडमिशन के समय आपसे एग्रीमेंट करवा लेते हैं की फीस किसी भी हाल में वापस नहीं की जाएगी फीस non-refundable रहेगी आदि,, लेकिन दोस्तों आपको इस चीज के बारे में सही जानकारी होना बहुत जरूरी है मैं आपको बताता हूं आज से करीब 2 साल पहले की बात है ऐसा ही फीस वापसी को लेकर के एक मुद्दा माननीय उच्चतम न्यायालय (सुप्रीम कोर्ट )में पहुंचा था वहां पर एक विद्यार्थी ने उसकी कोचिंग के द्वारा ली गई फीस वापस करने से मना कर दिया था तो कोर्ट ने यह निर्णय दिया कि विद्यार्थी ने पूरा कोर्स उस कोचिंग से नहीं पड़ा है तो उसने जितना भी कोर्स पड़ा है उसके अनुपात में राशि काट कर उस विद्यार्थी को या  उसके पालक को लौटाई जाना सुनिश्चित करें साथ ही साथ कोर्ट ने एक और महत्वपूर्ण बात कही थी वह यह है कि जब कोचिंग संस्थान एक साथ पूरा सिलेबस नहीं पढ़ा सकते हैं तो उन्हें एक साथ पूरी फीस लेने का भी अधिकार नहीं है। हालांकि हम पूरी फीस या दो या तीन इंस्टॉलमेंट में जमा कर देते हैं लेकिन जब आपको उनसे नहीं पढ़ने का विकल्प चुनना हो तो आप अपनी फीस वापसी के पूरे पूरे हकदार होते हैं क्योंकि वहां कोचिंग पर किया गया कोई भी एग्रीमेंट या कोई भी स्टांप पेपर पर सिग्नेचर भारत सरकार के द्वारा बनाए गए कानूनों से बड़े नहीं हो सकते हैं तो आप इस चीज को बिल्कुल साफ तौर पर समझ ले कि अगर आपको उस कोचिंग संस्थान में आगे की पढ़ाई नहीं करना है तो आप अपनी बची हुई राशि वापस से प्राप्त कर सकते हैं।।

HOW TO SELECT BEST COACHING INSTITUTE  FOR  -IIT,IAS,UPSC, JEE,IBPS,NDA,PSC,MEDICAL,AIPMT CA, MBA,

HOW TO SELECT BEST COACHING INSTITUTE FOR COMPETITIVE  EXAM

तो दोस्तों आज की इस आर्टिकल में आपने इतना तो समझ लिया होगा कि केवल विज्ञापन को देखकर के ही किसी भी कोचिंग में एडमिशन नहीं लेना चाहिए साथ ही साथ विज्ञापनों को किस प्रकार से समझे यह भी आपने सीखा उसके अलावा अगर किसी गलत कोचिंग में एडमिशन ले चुके हो तो आप वहां से अपने पैसे भी वापस प्राप्त कर सकते हैं ।
दोस्तों मैं आपको एक बात और बड़ी स्पष्ट रूप से कहना चाहता हूं  ,कोचिंग संस्थान चाहे वह कितना भी बड़ा ब्रांड क्यों ना हो आपकी सफलता की गारंटी नहीं है हा वो आपकी सफलता में योगदान अवश्य करता है लेकिन वहां पर प्रवेश लेने के उपरांत भी बहुत बड़ी संख्या में विद्यार्थी सफल नहीं हो पाते है।परीक्षा में सफलता आपकी मेहनत के ऊपर निर्भर करती है चाहे वह मेहनत कोचिंग सेंटर ज्वाइन करके करो या अपने घर पर करो।।
अगर आप के कुछ प्रश्न या कुछ सुझाव है तो नीचे कमेंट बॉक्स में आप अपने सुझाव दे सकते हैं एवं प्रश्न भी पूछ सकते हैं।

HOW TO SELECT BEST COACHING INSTITUTE  FOR  -IIT,IAS,UPSC, JEE,IBPS,NDA,PSC,MEDICAL,AIPMT CA, MBA,





7 important tips for -- how to start exam preparation 

Previous
Next Post »