प्रमुख संवैधानिक एवं गैर संवैधानिक संस्थाओं की सूची -EXAM GK TRICKS

प्रमुख संवैधानिक एवं गैर संवैधानिक संस्थाओं की सूची -

EXAM GK TRICKS ,

IMPORTANT CONSTITUTIONAL AND NON- CONSTITUTIONAL BODIES IN INDIA-GK QUESTION

प्रमुख संवैधानिक संस्थाओं की सूची -EXAM GK TRICKS


संवैधानिक एवं गैर संवैधानिक संस्थाएं, अर्थात कांस्टीट्यूशनल एंड नॉन कांस्टीट्यूशनल बॉडीज से संबंधित प्रश्न विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं में प्रमुखता से पूछे जाते हैं यहां पर संवैधानिक संस्थाओं तथा गैर संवैधानिक संस्थाओं की सूची एवं उनसे संबंधित महत्वपूर्ण तथ्य दिए गए हैं,जो कि विभिन्न प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी करने वाले विद्यार्थियों के लिए बहुत महत्वपूर्ण है।



इस लेख में विद्यार्थियों को निम्नलिखित महत्वपूर्ण प्रश्नों के जवाब आसान भाषा में प्राप्त होंगे---


➥संवैधानिक संस्थाएं किसे कहते हैं
➥संवैधानिक संस्थाओं की सूची
➥गैर संवैधानिक संस्थाएं किसे कहते हैं
➥संविधानेत्तर संस्थाएं किसे कहते हैं
➥गैर संवैधानिक संस्थाओं की सूची
➥संवैधानिक तथा सांविधिक संस्थाओं में अंतर
➥सांविधिक तथा संवैधानिक संस्थाओं में अंतर
➥संवैधानिक तथा संविधानेत्तर संस्थाओं में अंतर


संवैधानिक संस्थाएं किसे कहते हैं 

 संवैधानिक संस्थाएं वैसी संस्थाएं होती है जिनका वर्णन भारत के संविधान के अंतर्गत किया गया है। अर्थात इन संस्थाओं के कार्यों ,शक्तियों तथा इससे संबंधित अन्य उल्लेख भारत के संविधान के 22 भागों तथा 395 अनुच्छेद मैं से किसी विशेष भाग तथा विशेष अनुच्छेद के अंतर्गत किया गया है।




 सांविधिक संस्थाएं किसे कहते हैं /गैर संवैधानिक संस्थाएं किसे कहते हैं 


वे संस्थाएं जिनका वर्णन भारतीय संविधान के किसी भी अनुच्छेद एवं भाग में नहीं किया गया है अर्थात जिन संस्थाओं को संविधान के अंतर्गत उल्लेखित नहीं किया गया है उनको गैर संवैधानिक संस्थाओं के नाम से जाना जाता है इन संस्थाओं की स्थापना विशेष कार्य हेतु संसद द्वारा विशेष अधिनियम बनाकर के की जाती है

चुकीं इन संस्थाओं को संविधान से इतर अर्थात बाहर रखा गया है इसी कारण इन संस्थाओं को संविधानेत्तर संस्थाएं भी कहा जाता है तथा इन्हें संस्थाओं को सांविधिक संस्थाएं अर्थात स्टेट्यूटरी बॉडीज भी कहते हैं


सांविधिक और संवैधानिक संस्थाओं में अंतर या संवैधानिक तथा संविधानेत्तर संस्थाओं में अंतर या संवैधानिक तथा गैर संवैधानिक संस्थाओं में अंतर


इन तीनों का जवाब एक ही समान है अर्थात ऐसी संस्थाएं जिनका उल्लेख भारतीय संविधान के किसी विशिष्ट अनुच्छेद या विशिष्ट भाग में किया गया है यह संवैधानिक संस्थाएं कहलाती है तथा जिन संस्थाओं का उल्लेख भारतीय संविधान में नहीं मिलता है  उनको गैर संवैधानिक/सांविधिक /संविधानेत्तर   संस्थान कहते हैं 


संवैधानिक तथा  सांविधिक संस्थाओं में दूसरा प्रमुख अंतर यह है कि संवैधानिक संस्थाओं की शक्तियों एवं उसमें किसी भी प्रकार का परिवर्तन करने के लिए भारत की संसद में संविधान संशोधन प्रस्ताव लाकर के उस प्रस्ताव को मंजूरी के उपरांत ही संवैधानिक संस्थाओं में परिवर्तन किया जा सकता है वहीं गैर संवैधानिक/सांविधिक /संविधानेत्तर  संस्थाओं में इस प्रक्रिया को अपनाना जरूरी नहीं होता है

अर्थात संवैधानिक संस्थाओं में किसी भी प्रकार का परिवर्तन करने के लिए संविधान संशोधन की प्रक्रिया अपनाई जाती है वहीं सामाजिक संस्थाओं में संविधान संशोधन की प्रक्रिया नहीं अपनाई जाती है




प्रमुख संवैधानिक संस्थाओं की सूची 




 क्रमांक  संवैधानिक संस्था का  नाम   संबधित अनुच्छेद   महत्वपूर्ण तथ्य 
 1 नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक/ C. A.G  अनुच्छेद 148-151  मुख्यालय नई दिल्ली
➥वर्तमान नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक- 
  G .C . मुर्मू 
 2 संघ लोक सेवा आयोग  U.P.S.C. अनुच्छेद -315➥मुख्यालय नई दिल्ली➥वर्तमान अध्यक्ष
 श्री प्रदीप कुमार जोशी 
 3राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग अनुच्छेद -338  ➥मुख्यालय नई दिल्लीअध्यक्ष:- रामशंकर कठेरिया 
 4राष्ट्रीय अनुसूचित जनजाति आयोग अनुच्छेद 338-A ➥मुख्यालय नई दिल्ली
वर्तमान अध्यक्ष:- नंदकुमार साय
 5राष्ट्रीय पिछड़ा वर्ग आयोगअनुच्छेद 338-Bवर्तमान अध्यक्ष -भगवान लाल साहनी
 6केन्द्रीय  वित्त आयोग  अनुच्छेद -280 वर्तमान अध्यक्ष-Y.V. रेड्डी 
 7राज भाषा आयोग  अनुच्छेद-344 वर्त्तमान में गठित नहीं है 
 8 भारत के महा न्यायवादी  अनुच्छेद-76  वर्तमान अध्यक्ष-K.K. वेणुगोपाल 
 9 केंद्रीय निर्वाचन आयोग  अनुच्छेद-324  वर्तमान अध्यक्ष-सुनील  अरोड़ा 
 10 राज्य के महाधिवक्ता  अनुच्छेद-165  सभी राज्यों  में अलग अलग 
 11 राज्य लोक सेवा आयोग  अनुच्छेद-315 सभी राज्यों  में अलग अलग 

  ➥ प्रतियोगी परीक्षा  से सम्बंधित  महत्व पूर्ण जानकारी 



प्रमुख गैर संवैधानिक संस्थाएं / प्रमुख सांविधिक संस्थाएं/ संविधानेत्तर   संस्थाओं की सूची  एवं  महत्वपूर्ण तथ्य 

नीति आयोग- NITI AAYOG  


नीति आयोग का पूरा नाम  -राष्ट्रीय भारत परिवर्तन संस्थान
NITI AAYOG  फुल फॉर्म- नेशनल इंस्टिट्यूट फॉर ट्रांसफॉर्मिंग इंडिया
इसकी स्थापना 1 जनवरी 2015 को की गई थी
इसका मुख्यालय दिल्ली में है
नीति आयोग के अध्यक्ष कौन  हैं
भारत के प्रधानमंत्री नीति आयोग के पदेन अध्यक्ष होते हैं

राष्ट्रीय विकास परिषद

 राष्ट्रीय विकास परिषद की स्थापना 6 अगस्त 1952 को की गई थी
भारत के प्रधानमंत्री राष्ट्रीय विकास परिषद के पदेन अध्यक्ष होते हैं

 वेतन आयोग

 वेतन आयोग इसका गठन प्रत्येक 10 वर्ष में एक बार किया जाता है सातवें वेतन में वेतन आयोग के अध्यक्ष अशोक कुमार माथुर है

 बाल अधिकार संरक्षण आयोग 

   बाल अधिकार संरक्षण आयोग का गठन वर्ष 2006 में किया गया
बाल अधिकार संरक्षण आयोग का गठन CRPA अर्थात चाइल्ड राइट प्रोटक्शन एक्ट के प्रावधानों के तहत किया गया,

 राष्ट्रीय महिला आयोग 

आयोग राष्ट्रीय महिला आयोग का गठन वर्ष 1992 में किया गया
 वर्तमान में राष्ट्रीय महिला आयोग की अध्यक्ष रेखा शर्मा है
 महिला आयोग की प्रथम अध्यक्ष ललिता कुमारमंगलम थी

 राष्ट्रीय मानव अधिकार आयोग


राष्ट्रीय मानव अधिकार आयोग का गठन वर्ष 1993 में  किया गया
राष्ट्रीय मानव अधिकार आयोग का मुख्यालय नई दिल्ली में स्थित है
राष्ट्रीय मानव अधिकार आयोग के वर्तमान अध्यक्ष जस्टिस पिनाकी चंद्र घोष है

 केंद्रीय सतर्कता आयोग


 केंद्रीय सतर्कता आयोग का गठन 1964 में किया गया है
 केंद्रीय सतर्कता आयोग के वर्तमान अध्यक्ष- श्री संजय कोठारी  है

राज्य सूचना आयोग

 केंद्रीय सूचना आयोग की ही भांति राज्यों में अपने-अपने राज्य सूचना आयोग होते हैं

और प्रत्येक राज्य में इनकी अध्यक्ष भी अलग-अलग होते हैं।

लोकपाल


लोकपाल भ्रष्टाचार के मामलों में जांच करने की भारत में शीर्ष संस्था है
 इसके वर्तमान अध्यक्ष श्री  पिनाकी चंद्र घोष है


लोकायुक्त

प्रत्येक राज्य में लोकायुक्त उस राज्य की सीमा के अंदर भ्रष्टाचार के मामलों में जांच एवं संबंधित कार्यवाही हेतु एक स्वागत एवं गैर संवैधानिक निकाय है

राज्य मानव अधिकार

 राष्ट्रीय मानव अधिकार आयोग की ही भांति प्रत्येक राज्य में अपने-अपने राज्य मानव अधिकार आयोग होते हैं मध्यप्रदेश के संदर्भ में राज्य मानव अधिकार आयोग भोपाल में पर्यावास भवन में स्थित है

केंद्रीय जांच ब्यूरो 

केंद्रीय जांच ब्यूरो एक महत्वपूर्ण गैर संवैधानिक संस्था है
इसके वर्तमान अध्यक्ष ऋषि कुमार शुक्ला है
तथा इसका मुख्यालय नई दिल्ली में स्थित है।

राष्ट्रीय ज्ञान आयोग


राष्ट्रीय ज्ञान आयोग (नेशनल नॉलेज कमीशन)  इसे संक्षिप्त रूप में  NKC  भी कहते हैं
इसकी स्थापना वर्ष 2005 में की गई थी
इसके प्रथम अध्यक्ष सैम पित्रोदा थे।

विधि आयोग 

विधि आयोग (लॉ कमीशन )भी एक महत्वपूर्ण गैर संवैधानिक संस्था है
स्वतंत्र भारत के प्रथम विधि आयोग के अध्यक्ष श्री N.C .  सीतलवार थे
स्वतंत्र भारत में प्रथम विधि आयोग की स्थापना वर्ष 1955 में की गई थी
21 वे विधि आयोग के अध्यक्ष न्यायमूर्ति बलबीर सिंह चौहान है

राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग 


राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग  (नेशनल कमिशन फॉर माइनारटीज ) भी एक महत्वपूर्ण गैर संवैधानिक संस्था या आयोग है
इस आयोग की स्थापना वर्ष 1978 में  की गई थी
इसका मुख्यालय नई दिल्ली में स्थित है
राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग के प्रथम अध्यक्ष न्यायमूर्ति मोहम्मद सरदार अली खान थे।
राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग के वर्तमान अध्यक्ष श्री सैयद  घयोरूल  हसन रिजवी है।




      

Previous
Next Post »

1 टिप्पणियाँ:

Click here for टिप्पणियाँ
Sushmita_gpt
admin
16 फ़रवरी 2021 को 11:25 pm ×

tell us about importance of nonconstitutional bodies in indian sanghwad and about its impact also

Congrats bro Sushmita_gpt you got PERTAMAX...! hehehehe...
Reply
avatar