नोबेल शांति पुरस्कार 2020 - वर्ल्ड फूड प्रोग्राम

वर्ल्ड फूड प्रोग्राम क्या है ? world food programme -WFP in hindi


वर्ल्ड फूड प्रोग्राम क्या है ? world food programme -WFP in hindi 

World food programme की स्थापना वर्ष 1961 में की गई थी,

 इसका मुख्यालय रोम (इटली ) में स्थापित किया गया है ,

वर्तमान में वर्ल्ड फूड प्रोग्राम के अध्यक्ष या हेड -  डेविड बेअसले है।

वर्ल्ड फूड प्रोग्राम को संक्षिप्त में WFP भी कहा जाता है।

विश्व खाद्य कार्यक्रम संयुक्त राष्ट्र की एक विशेष संस्था या अभिकरण है, जिसे वर्ष 2020 में शांति का नोबेल पुरस्कार प्रदान किया गया है ,यहां पर वर्ल्ड फूड प्रोग्राम के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान की गई है।

वर्ष 2020 में नोबेल शांति पुरस्कार वर्ल्ड फूड प्रोग्राम को प्रदान किया गया है, वर्ल्ड फूड प्रोग्राम को यह पुरस्कार दुनियाभर में भूख के खिलाफ जंग लड़ने के लिए प्रभावी कार्यक्रमों के संचालन हेतु प्रदान किया गया है ,


वर्ल्ड फूड प्रोग्राम संयुक्त राष्ट्र का एक विशेष अभिकरण है।

नोबेल पुरस्कार प्रदान करने वाली समिति ने संघर्ष से प्रभावित क्षेत्रों में शांति और युद्ध के हथियारों  के रूप में भूख के उपयोग को रोकने के लिए किए गए प्रयासों पर वर्ल्ड फूड प्रोग्राम की सराहना भी की है।

 साथ ही साथ ऐसा पहली बार हुआ है कि शांति का नोबेल पुरस्कार किसी व्यक्ति या संस्था के अलावा किसी प्रोग्राम को दिया गया है।

World food programme एक विश्व व्यापी कार्यक्रम है जो कि वर्तमान में 88 देशों में करीब 10 करोड़ लोगों तक खाद्यान्न मदद पहुंचाने के लिए  कार्यक्रमों का संचालन करता है।

संयुक्त राष्ट्र का यह अभिकरण युद्ध प्राकृतिक आपदा और अकाल जैसी आपात स्थितियों में खाद्य सहायता मुहैया करवाता है।

इसकी शुरुआत 1961 में अमेरिकी राष्ट्रपति  डी आइजनहावर के सुझाव से हुई थी।

इस संगठन के बनने के कुछ ही समय पश्चात ईरान में एक भयंकर भूकंप आया था इसमें करीब 12000 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई थी ,तब डब्ल्यू एफ सी में 15 100 मैट्रिक टन गेहूं करीब 270 टन चीनी और 27 टन चाय भेजी जो कि ईरान के लोगों को भूख से बचाने के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण सहायता थी,

 इसके अलावा थाईलैंड में तूफान के दौरान और अल्जीरिया में युद्ध शरणार्थियों की मदद भी इस संस्था ने प्रमुखता से कि ,

वर्ष 1963 में डब्ल्यू एफ पी  का पहला स्कूल मिल प्रोजेक्ट शुरू हुआ था तथा वर्ष 1965 में यह पूरी तरह संयुक्त राष्ट्र का एक प्रोग्राम बन गया 

धीरे-धीरे डब्ल्यू एफ पी  का दायरा बढ़ता चला गया और वर्ष 2019 में यह संस्था करीब 88 देशों के 10 करोड लोगों को खाद्य सहायता प्रदान करने लगी है,

best gadgets for online classes for students on amazon 

कोरोना  काल में इसकी अहम भूमिका  रही है 

डब्ल्यू एफ सी के पास वर्तमान में 5630 जहाज और 100 से ज्यादा विमान उपलब्ध है हर साल वह राशन की करीब पंद्रह सौ करोड़ डिलीवरी करता है

 डब्लू एफ पी  का मुख्यालय इटली के रोम में स्थित है तथा डब्लू एफ सी में 1700 कर्मचारी का स्टाफ काम करता है।

 World Food Programme awarded Nobel Peace Prize-2020 
Previous
Next Post »