सुकन्या समृद्धि योजना के प्रमुख लाभ

 

सुकन्या समृद्धि खाता योजना क्या है?

 सुकन्या समृद्धि योजना के प्रमुख लाभ ,

 सुकन्या समृद्धि योजना में खाता कहां खुलवाएं,

 सुकन्या समृद्धि योजना में खाता खुलवाने के लिए   आवश्यक कागजात ?

sukanya samriddhi yojana application form pdf download 


सुकन्या समृद्धि खाता योजना क्या है?


यहां पर सुकन्या समृद्धि योजना से संबंधित सभी महत्वपूर्ण जानकारी आसान भाषा में प्रस्तुत की गई है जैसे -

  • सुकन्या समृद्धि योजना क्या है?
  •  सुकन्या समृद्धि योजना में  खाता कैसे खुलवाएं?
  •  सुकन्या समृद्धि योजना में खाता कहां खुलता है?
  •  सुकन्या समृद्धि योजना में खाता खुलवाने के लिए आवश्यक कागजात कौन-कौन से होते हैं ?
  • सुकन्या समृद्धि योजना के खाते की वार्षिक प्रीमियम न्यूनतम एवं अधिकतम कितनी होती है?
  • सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत खाता खुलवाने में अधिकतम कितना खर्च आता है ?
  • सुकन्या समृद्धि योजना में खाता खुलवाने के लिए न्यूनतम एवं अधिकतम उम्र सीमा क्या है ?
  • सुकन्या समृद्धि योजना खाता बंद होने की स्थिति में खाते को रिएक्टिव कैसे करें ?

एवं इससे संबंधित अन्य महत्वपूर्ण जानकारियां इस लेख में प्रदान की गई है।


सुकन्या समृद्धि खाता योजना क्या है?

सुकन्या समृद्धि खाता योजना क्या है?


सुकन्या समृद्धि खाता योजना जनवरी 2015 में केंद्र सरकार के द्वारा प्रारंभ की गई एक महत्वपूर्ण योजना है ,सुकन्या समृद्धि खाता योजना ,बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ कार्यक्रम के एक हिस्से के रूप में प्रारंभ की गई है।

सुकन्या समृद्धि योजना में खाता कैसे खुलवाएं? how to open an account under Sukanya Samriddhi Yojana.


 सुकन्या समृद्धि योजना में खाता खुलवाने  के संबंध में जानकारी  -

सुकन्या समृद्धि योजना में खाता खुलवाने के लिए निम्नलिखित बिंदु आवश्यक है
  • अधिकतम 10 वर्ष तक की उम्र की बालिकाओं का ही खाता इस योजना के तहत खोला जा सकता है।
  • इस खाते को खुलवाने के लिए बालिका की उम्र 0 से 10 वर्ष के मध्य होनी अनिवार्य है
  • इस योजना के अंतर्गत एक बालिका का केवल एक ही खाता खोला जा सकता है।
  • इस योजना के अंतर्गत खाता खुलवाने के लिए माता-पिता अथवा पालक केवल दो ही बालिकाओं का खाता इस योजना के तहत खुलवा सकते हैं विशेष परिस्थितियों जैसे जुड़वा संतान होने की स्थिति में अधिकतम 3 बालिकाओं के लिए यह खाता खोला जा सकता है।
:-नोट--- सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत केवल भारतीय  बालिका ही खाता खुलवाने के पात्र हैं ,इस योजना के अंतर्गत एन.आर.आई  non-residential Indian को अनुमति नहीं दी गई है।

सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत खाता कहां खुलवा सकते हैं?


इस योजना के अंतर्गत किसी भी पोस्ट ऑफिस या बैंक में खाता खुलवाया जा सकता है ,यह खाता एक स्थान से दूसरे स्थान अथवा एक बैंक से दूसरे बैंक या पोस्ट ऑफिस से किसी बैंक में भी स्थानांतरित किया जा सकता है।

सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत खाता खुलवाने के लिए जरूरी दस्तावेज document for open an account under Sukanya Samriddhi Yojana


इस योजना के अंतर्गत खाता खुलवाने के लिए बालिका का जन्म प्रमाण पत्र आवश्यक होता है।
इसके अलावा बालिका के दो पासपोर्ट साइज के फोटो एवं जमा करता के पहचान पत्र से संबंधित दस्तावेज जैसे आधार कार्ड ,ड्राइविंग लाइसेंस ,पैन कार्ड की आवश्यकता होती है।

(यहां पर जमा करता से आशय बालिका के माता-पिता अथवा संरक्षक से है।)

 sukanya samriddhi yojana application form pdf download 

सुकन्या समृद्धि खाता योजना क्या है?

सुकन्या समृद्धि खाता योजना की कुछ महत्वपूर्ण जानकारी
 जो राशि जमा करने एवं उस राशि पर ब्याज तथा राशि जमा करने की अवधि से संबंधित है उसका वर्णन निम्न है

इस योजना के अंतर्गत न्यूनतम वार्षिक राशि ढाई सौ रुपए निर्धारित की गई है, पहले यह राशि न्यूनतम ₹1000 निर्धारित थी, जिसे वर्ष 2020 में संशोधित करके ढाई सौ रुपए कर दिया गया है ,
इसी प्रकार इस योजना में 1 वर्ष में अधिकतम डेढ़ लाख रुपए तक जमा कर सकते हैं

इस योजना मैं जमा करता को कुल 14 वर्ष तक प्रीमियम जमा करना पड़ता है ,
यह 14 वर्ष की अवधि खाता खुलवाने की तिथि से प्रारंभ मानी जाते हैं अर्थात इसमें 14 वर्षों तक राशि जमा करवाना होती है,
 इस योजना के अंतर्गत खाते की परिपक्वता अर्थात मेच्योरिटी ऑफ सुकन्या समृद्धि अकाउंट 21 वर्ष निर्धारित की गई है ,
यह 21 वर्ष खाते की परिपक्वता अवधि है, इन 21 वर्षों की गणना खाता खुलवाने की तिथि से प्रारंभ मानी जाती है ,ना कि बालिका की उम्र से।

इस योजना के तहत सामान्य परिस्थितियों में परिपक्वता अवधि अर्थात 21 वर्ष खाते की अवधि पूर्ण करने से पहले खाते को बंद करना सामान्य परिस्थितियों में संभव नहीं होता है ,कुछ विशेष परिस्थितियों में यह खाता 21 वर्ष से पहले भी बंद किया जा सकता है ,जैसे दुर्भाग्यवश बालिका की मृत्यु हो जाए या उसे कुछ गंभीर बीमारी हो जाए 

ऐसी स्थिति में यह खाता बीच में भी बंद किया जा सकता है तथा उस समय जितनी राशि खाते में एकत्रित हुई है वह राशि जमा करता को या बालिका को दे दी जाती है।

इस खाते में से बालिका के उच्च शिक्षा हेतु 50% राशि निकालने के प्रावधान भी किए गए हैं ,
यह राशि 18 वर्ष की उम्र पूरी कर लेने के पश्चात बालिका की उच्च शिक्षा में व्यय हेतु ही निर्धारित की गई है।

इस योजना में जमा करता को 14 वर्षों तक राशि जमा करवाना पड़ती है फिर 7 वर्षों तक उसे कुछ भी प्रीमियम जमा करने की आवश्यकता नहीं होती है ,और उसे प्रतिवर्ष चक्रवृद्धि ब्याज का  लाभ मिलता  रहता है।

अगर  जमा करता किसी कारण से  वार्षिक प्रीमियम की राशि जमा नहीं कर पाता है या उसका खाता इन एक्टिव हो जाता है तो वह पुनः सुकन्या समृद्धि खाते को रिएक्टिव करवा सकता है इसके लिए उसे ₹50 की पेनल्टी के साथ वार्षिक प्रीमियम की बकाया राशि जमा करवाना होती है।

 यहां पर ध्यान देने योग्य एक विशेष बात यह है कि अगर खाते की परिपक्वता अवधि जोकि 21 वर्ष निर्धारित की गई है उससे पूर्व अगर खाताधारक बालिका का विवाह हो जाता है तो विवाह के समय उस खाते में जमा पूरी राशि बालिका को प्रदान करके यह खाता बंद कर दिया जाएगा।

सुकन्या समृद्धि खाता योजना क्या है?


अब बात करते हैं सुकन्या समृद्धि खाता योजना में कितनी राशि जमा करने पर कितना लाभ प्राप्त होता है

इस योजना के अंतर्गत न्यूनतम प्रीमियम ढाई सौ रुपए वार्षिक निर्धारित किया गया है, तथा अधिकतम वार्षिक प्रीमियम डेढ़ लाख रुपए तक जमा किए जा सकते हैं,

 उदाहरण के लिए अगर कोई जमाकर्ता  इस खाते में₹1000 प्रति माह जमा करता है ,तो इस प्रकार उसका वार्षिक प्रीमियम ₹12000 होता है ,तथा इस योजना के नियमानुसार अधिकतम 14 वर्षों तक वह  ₹12000 वार्षिक रूप  जमा करता रहे तो वह कुल ₹180000 इस खाते में जमा करता है ,
तथा उसे इस खाते की परिपक्वता अवधि अर्थात खाता खुलवाने की 21 वर्ष पश्चात ₹600000 की राशि प्राप्त होती है 


अगर दूसरे उदाहरण से समझे कि कोई जमा करता अधिकतम वार्षिक प्रीमियम डेढ़ लाख रुपए प्रति वर्ष जमा करता है 
इस प्रकार 14 वर्षों में वह कुल 22:50 लाख रुपए इस खाते में जमा करता है ,
तथा उसे परिपक्वता अवधि के पूर्ण होने पर 7500000 रुपए बालिका को मिलेंगे जिसके नाम पर वह खाता खोला गया था 

यहां यह भी जानना महत्वपूर्ण है कि जमाकर्ता अपनी सुविधा अनुसार न्यूनतम एवं अधिकतम वार्षिक प्रीमियम की राशि किस्तों में जमा करवा सकता है साथ ही साथ वह प्रतिवर्ष या प्रतिमाह अलग-अलग (कम या ज्यादा) राशि भी जमा कर सकता है 

अर्थात इस योजना में केवल न्यूनतम एवं अधिकतम प्रीमियम की ही बाध्यता है।

 सुकन्या समृद्धि खाते में कितना ब्याज प्राप्त होता है?


इस योजना के अंतर्गत 8.5% वार्षिक ब्याज मिलता है । 
इस योजना के अंतर्गत मिलने वाले ब्याज चक्रवती प्रकार का होता है।

इस योजना की एक और महत्वपूर्ण बात यह है कि इस पर मिलने वाला ब्याज तथा कुल राशि पूर्ण रूप से आयकर से मुक्त रखी गई है,

 अर्थात सुकन्या समृद्धि योजना के तहत प्राप्त ब्याज एवं मूलधन की राशि  आयकर की धारा 80 सी के तहत पूर्ण रूप से छूट प्रदान की गई है।।


सुकन्या समृद्धि योजना  का प्रमुख उद्देश्य लड़कियों को शिक्षित करना और विवाह खर्च मुहैया करवाकर उनके सुनहरे भविष्य का निर्माण करना है।

अर्थात यह योजना महिला सशक्तिकरण की दिशा में महत्वपूर्ण योजना सिद्ध हुई है ,तथा इस योजना का लाभ प्राप्त कर बालिकाएं उच्च शिक्षा प्राप्त करने में भी सफल होगी।


इन्हे भी पढ़े ➤➤➤ 

मध्य प्रदेश के प्रमुख खेल संस्थान अकादमी एवं स्टेडियम

6 BEST HINDI GRAMMAR BOOKS FOR COMPETITIVE EXAMS

प्रधानमंत्री मुद्रा लोन के लिए आवेदन कैसे करें?

नोबेल शांति पुरस्कार 2020 - वर्ल्ड फूड प्रोग्राम

महंगाई क्यों बढ़ती है? REASON / TYPES OF INFLATION IN HINDI

बीज के प्रकार TYPES OF SEED IN HINDI

Previous
Next Post »